आज कुछ ख़ास है

आज कुछ ख़ास है
सफाई वाली और खाने वाली दोनों को समझाना है
सफाई कैसे करनी है और खाना कैसे बनाना है
आज घर साफ़ होगा पोछे अच्छे से लगेंगे
वो अंदर वाले कोने से मिटटी निकलेगी जाले भी हट जायेंगे
खाना बढ़िया बनेगा कुछ तो स्पेशल होगा
पनीर बनाओगी या मीठा – ऐसा करती हूँ दोनों बना लेती हूँ
फ्रूट कटेगा चाय भी गरम गरम मिलेगी
कपडे सिमट जायेंगे – धुलने वाले धुल जायेंगे और गंदे सब अलग कर दिए जायेंगे
सुखा के तह कर दिए जायेंगे, अलमारियों में टिका दिए जायेंगे
प्रेस भी हो जायेंगे- धोबी कपडे ले भी जायेगा और मंगवा भी लेंगे
जल्दी से नहा लो कहीं जाना होगा – तैयार हो जाओ कोई आ जायेगा
अच्छे कपडे पहन लो, बाल समेट लो-बिखरे हुए अच्छे नहीं लगते
आज बाकी दिनों से बेहतर होगा क्योंकि आज छुट्टी है
आज घर की बहु की ऑफिस की छुट्टी है

बेटा तुम सो जाओ – नींद ख़राब ना हो जाये
आज क्या नहाना तुम लेटे रहो – कुछ खा लो भूख लगी होगी
कोई तंग ना करना आज बड़े दिनों बाद तो सोया है – क्योंकि आज छुट्टी है
आज घर के बेटे की ऑफिस की छुट्टी है

Advertisements