मेरे जज़्बात- कुछ अल्फ़ाज़

कुछ लफ़्ज़ों में लिख लिया करता हूँ, जब तेरी याद आती है

अपने आँसू खुद ही पोंछ लिया करता हूँ, जब तेरी याद आती है

I write a few words, when I remember you
I wipe my own tears, when I remember you

Advertisements

मैं अक्सर जज़्बाती हो जाया करता हूँ

तेरा ज़िक्र मुझे मेरी तन्हाई की याद दिला जाता है

लम्हे, अक्सर तेरी कुछ बातें मेरे ज़ेहन में कौंधती रहती हैं

इशारे, तेरी छुअन, तेरी हथेलियों की नमी

सब भाग के आ जाती हैं

और बैठ जाती हैं मेरी पुरानी कुर्सी के साथ,

नहीं तो पलंग पर रखे सफ़ेद सिरहाने के पास

कभी कहीं कोई तस्वीर तेरी, धकेल देती है मुझे

पीछे

कभी बहुत दूर

तेरी मुस्कराहट, होठों की लाली, तेरी एक लट

और घुंघराले बालों की भीनी भीनी खुशबू

एक जादू सा है या एक नशा है अपने आप में

वक़्त ये सच है या वो एक सपना था,

पूछता हूँ खुद से जिस चाँद की रोशनी में तुझे ताका करता था 

वो भी अजनबियों जैसा बर्ताव करती है 

या तो सब वैसा ही है 

बस मैं ही बदला हूँ शायद 

जो मैं अक्सर जज़्बाती हो जाया करता हूँ इन छोटी छोटी बातों को ले कर!!!

बचपन का सच 

जब मैं बच्ची थी तब मैं सच्ची थी
अच्छा ना लगता था जब खाना मुझे, मुंह से बाहर फ़ेंक देती थी
अब स्वाद लिए बिना खा कर, “अच्छा ही बना है” कह देती हूँ

क्योंकि जब मैं बच्ची थी तब मैं सच्ची थी
कोई मन को ना भाता था, तो मुंह सिकोड़ के मोड़ लेती थी
अब कमरे में सामने बैठ कर बात करती हूँ और मुस्कुरा भी देती हूँ

क्योंकि जब मैं बच्ची थी तब मैं सच्ची थी
जब लगता था कोई अच्छा, तो दौड़ के गोद में बैठ जाती थी
अब प्यार भी मन में दबा लेती हूँ, चुप ही रह जाती हूँ

क्योंकि जब मैं बच्ची थी तब मैं सच्ची थी
जब समझाता था कोई दुनिया भर की बातें, एक कान से सुन कर दूसरे से निकाल देती थी
अब सुनती हूँ, पूछती हूँ, और दुनियादारी समझ के अक्सर मान भी जाती हूँ

क्योंकि जब मैं बच्ची थी तब मैं सच्ची थी
दर्द होता था जब कहीं मुझे, रो देती थी और माँ को पुकार लेती थी
अब आंसू पोंछ लेती हूँ और अपने काम में ध्यान लगा लेती हूँ

क्योंकि जब मैं बच्ची थी तब मैं सच्ची थी
अब बड़ी जो हो गयी हूँ तो मौके सा बर्ताव करती हूँ

Erotus- it’s unique!!

There is this fragrance that brings inside you a sensation, it makes you feel that thrill.

Its not your fault. No money can buy that smell of your lifetime. Nobody can give you that happiness as that scent. No one but that one particular person or thing could make you feel so good.

And you love it beyond everything. There is this one word which makes you dance beautifully on that tune which plays in your ears. That voice is such that you want to hear it again and again. Praying that somebody puts it on an infinite loop and you can keep hearing that forever.

It can be a rumble, can be the chirping of a bird, can be a tune or anything or it can be a person calling your name or your nickname. There is this touch that is just nothing but memorable. Once in a lifetime types. The touch makes you feel the safest on this earth, tells you that you are never alone. Assuring you that nobody can harm you, nothing can ever scare you. You are sure you will never fall.

There is this moment, the most special moment of your life which you can not forget, the moment which takes your breath away just to tell you are still alive, living the most beautiful times.

Those moments steal every part of your life to give it the colors of the rainbow. The sky is not just blue. The clouds form shapes that only a word like bizarre can put forward.

And there is this one person who makes a difference in your life, to leave it completely different; like never before. And you are left hypnotized by what happens. Sometimes unexplained or explained but the variations that occur henceforth are beyond one’s control. And everything just goes as haphazard. You know everything but you cant speak out. And then as they say, its not a big deal!!!!

Taken from an old Blog Post: Erotus- it’s unique!! 12.10.2010 Tuesday